love tips, healths tips, new launch mobile news, latest mobile, latest tech news, new knownledges,tech news

Breaking

Friday, April 24, 2020

AGAR TU HOTA TO NA ROTE HAM


अगर तू होता तो ना रोते हम

जब पहली बार किसी से प्यार हो जाता है और साथी भी आपकी फीलिंग को काफी रेस्पेक्ट देता है तब पूरी दुनिया कितनी खुबसूरत लगने लगती है और जब भी आपका प्यार आपको हर्ट करता है तो सारी दुनिया को बेवफाई भरी नजरो से देखते है और ये इंसान की फितरत ही है जिसे हमें सुइकार करने ने कोई दिक्कत होनी भी नही चाहिए।
AGAR TU HOTA TO NA ROTE HAM, pyar ki kahani
AGAR TU HOTA TO NA ROTE HAM

हेलो दोस्तों मै हूँ पुनीत और आज की कहानी कोल्कता से है जहा मोहब्बत लोगो के दिलो में बस्ती है। ये कहानी राहुल, समर
 और नेहा की है जो रियल कहानी है। इस कहानी को पुनीत ने बड़े ही खूबसूरती के साथ लिखी है। मुझे भरोसा है की आपको सभी कहानी की तरह ये कहानी भी पसंद आयेगी।

कहानी चरित्र

राहुल, समर  और नेहा
लेखक :  पुनीत यादव

हेलो दोस्तों मै नेहा कोल्कता से और ये मेरी रियल कहानी है जिसे मै आपको बता रहा हूँ। जेसे की हम जानते है सभी की ज़िन्दगी में वो पल आता है जब हमें पहला प्यार होता है मुझे भी हुआ और वो राहुल था जिसने मेरी ज़िन्दगी को खुशियों से भर दिया। मै राहुल से पहली बार 5 साल पहले मिली थी।

5 साल पहले

गर्मी की छुट्टियां चल रही थी और मै इस छुट्टियों में कंप्यूटर की कोई शोर्ट टर्म कौसे करने की सोच रही है। मेरे घरवालो ने भी हा कर दी थी और मेने अपने घर के पास कंप्यूटर सेंटर में एडमिशन ले लिया। वहा मेरी मुलाकात होती है राहुल से और हम बहुत अच्छे दोस्त बन गए और काफी वक़्त साथ में गुजारने लगे मुझे उस पर फीलिंग आने लगी थी सायद में उससे प्यार करने लगी थी लेकिन उससे कुछ बोल नही पा रही थी क्युकी मै नही चाहती थी की हमारी दोस्ती ख़राब हो।

एक दिन राहुल का कॉल आता है मुझे

राहुल : मै तुमे कुछ बताना चाहता हूँ।
नेहा : हा बताओ
राहुल : वादा करो तुम नाराज़ नही होगी।
नेहा : ठीक है वादा करती हूँ। बोलो
राहुल : ये सच है मै तुमसे प्यार करने लगा हूँ लेकिन बोल नही पा रहा था और आज अपने आप को रूक नही पा रहा हूँ अपनी दिल की बात बोलने से। अगर तुम्हे मुझसे प्यार है तो हम एक नए रिश्ते की शुरूवात कर सकते है………. और अगर तुम्हे मुझसे प्यार नही है तो हम दोस्त तो रह ही सकते है। I Love You So much……….
नेहा : पागल । यही सुनने के लिए मै बेचैन थी कितने दिनों से..... I Love You toooo……..

दोस्तों हमारी दोस्ती को एक नया नाम मिल चूका था और हम दोनों काफी खुश थे. एक दुसरे के साथ और अपनी जिंदिगी का पूरी तरह से आनन्द ले रहे थे क्या दिन और क्या रात हम अक्सर कॉल और चैटिंग करते रहते थे। वक़्त........... गुजरता गया और प्यार भी बढता गया और देखते ही देखते 5 साल गुजर गए। मै राहुल को लेकर पूरी तरह से सुरक्षित थी इसलिए मै अब ज्यादा वक़्त अपने सपने और शोक पर भी देना शुरू कर दिया और राहुल को समय...... कम देने लगी मगर मेरा प्यार वही था बस वक़्त उसे उतना नही दे पा रही थी जैसा पहले देती थी।

मगर राहुल ने इसे गलत में ले लिया और वक़्त के साथ हमारी लडाई झगडे भी शरू हो गए इसी बात को लेकर। मगर मै इस बात से अनजान थी की हमारी रिश्ता ख़राब होगा और कभी कभी इसका भी डर लगा रहता था........ और एक दिन वही हुआ राहुल ने मुझसे कहा मै तुम्हारे साथ और नही रह सकता तुम बदल चुकी हो और .... वो कहकर मुझे छोड़ कर चला गया और मुझे छोड़ गया तनहा कर और इन सब में मेरी जिंदिगी अधूरी सी हो चुकी थी। ऐसा कोई पल नही था जिसमे में उसे याद ना करती हुए और रोती रहती थी।
अगर तू होता तो ना रोते हम, Pahla pyar
AGAR TU HOTA TO NA ROTE HAM

विराम

राहुल के जाने के बाद मै पूरी तरह से टूट सी गई थी और उसे भूलने की बेकार सी कोशिश भी करने लगी। हर नया दिन लगता था की राहुल का मुझे कॉल या मेसेज आयेगा मगर ऐसा होता नही था और वक़्त गुजरता गया।

8 महीने पहले

मेरी दोस्ती समर से होती है फेसबुक में, और धीरे धीरे हम अच्छे दोस्त भी बन गए थे और सब कुछ हम आपस में शेयर करने लगे और इस तरह समर का साथ पाकर मै थोड़ी ही सही मगर खुश हो लेती थी। समर एक अच्छा लड़का था और वो मेरी काफी केयर करता था।

3 महीने पहले

समर : नेहा सुनो मै तुम्हे पसंद करता हूँ यार। और मै तुमे अपनी प्रेमिका बनाना चाहता हूँ और तुम मुझपर भरोसा करो में तुम्हे अभी भी अकेला भी छोड़ूंगा।
नेहा : मै किसी और से प्यार करती हूँ और ये बात अलग है की वो मुझे छोड़ कर चला गया।
समर : जिंदिगी ख़राब क्यों कर रही हो अगर तुम चाहो तो हम एक नयी ज़िन्दगी की शुरूवात कर सकते है।
नेहा : मुझे समय चाहिए।
समर : ठीक है।
नेहा : मैंने बहुत सोचा 4  दिनों तक और मुझे लगता है की मुझे नये ज़िन्दगी की शुरूवात कर लेनी चाहिए। हा, I Love You too और सुनो अगर तुम भी मुझे छोड़ कर चले गए तो भोत मरूँगा।
समर : ऐसा दिन नहीं आयेगा क्युकी मै तुम्हे कभी भी हर्ट नही करूँगा।

1 सप्ताह पहले

मुझे राहुल का मेसेज मिलता है और वो मुझसे मिलना चाहता था। मै मान गई और चली गई उससे मिलने। राहुल ने सबसे पहले मुझसे माफ़ी मागी और कहने लगा प्लीज मुझे माफ़ कर दो मैंने तुम्हारा दिल दुखाया है....... और सच में तुम्हारे बिना मै नही रह सकता हूँ प्लीज मुझे 1 मोका दो सब कुछ ठीक कर दूंगा।
sad story, AGAR TU HOTA TO NA ROTE HAM
AGAR TU HOTA TO NA ROTE HAM

पल भर के लिए में शॉक हो गई थी फिर सोचा यही तो था जिसे मै मिस कर रही थी इतने दिनों से और आखिरकार मैंने राहुल को हा कर दी और मुझे मेरा पहला वाला राहुल मिल गया।

मगर समर भी था अब मेरी जिंदिगी में जिसे अब मै नहीं चाहती थी की वो मेरी जिंदिगी का हिस्सा रहे और ये भी नही चाहती की समर के वजह से राहुल और मेरे रिश्ते पर कोई प्रभाव हो। इसलिए मै समर को अनदेखा करने लगी और उससे बिलकुल भी बात नही करती थी और एक दिन समर और मेरा झगडा होने लगा और सायद यही सही मौका था मै उससे दूर हो जाओ। मैंने समर को साफ़ कह दिया मुझे नही रहना तुम्हारे साथ और मेने उसे उसके हल पर छोड़ दिया और अपने पुराने प्यार के पास लोट गई।
यही है मेरी प्यार की रियल प्यार की कहानी

मुझे पता है समर की कोई भी गलती नही थी और वो बिलकुल भी परेशान नही करता था। जैसा मैंने उसके साथ किया मगर मै मजबूर थी क्युकी राहुल के अलावा मुझे कुछ नही चाहिए था जिंदिगी से।

अगर आपको ये कहानी अच्छी लगी तो इसे अपने दोस्तों के साथ शेयर करे और हमें निचे दिए गये कमेंट बॉक्स में कोमेंट करके ये भी बताये की जो नेहा ने किया वो सही था और अगर अगर आप राहुल, नेहा और समर की जगह होते तो क्या करते।

Puneet Yadav

2 comments:

Please do not enter ant spam link in the comment box

'; (function() { var dsq = document.createElement('script'); dsq.type = 'text/javascript'; dsq.async = true; dsq.src = '//' + disqus_shortname + '.disqus.com/embed.js'; (document.getElementsByTagName('head')[0] || document.getElementsByTagName('body')[0]).appendChild(dsq); })();