love tips, healths tips, new launch mobile news, latest mobile, latest tech news, new knownledges,tech news

Breaking

Friday, May 8, 2020

Sacche Pyar Ki love Story


सच्चे प्यार की लव स्टोरी 

सच्चा प्यार करने वाले को कभी ना कभी उसका प्यार जरुर मिलता है। एसा ही कुछ ये कहानी में है ये कहानी है दो प्रेमी- प्रेमिका की जो बचपन में अलग हो गए लेकिन 10 साल बात फिर से मिल गए। ये कहानी भोत अच्छी है मुझे विश्वास है की आपको भी ये कहानी अच्छी लगेगी। इसलिए मेरा अनुरोध है की एक बार ये कहानी जरुर पड़े इससे जो भी अपनी प्रेमी-प्रिमिका से दूर हो गए है उन्हें एक नया होसला मिल जायेगा।

Sacche Pyar Ki Kahani, saacha pyar kiya hai

सच्चे प्यार की लव स्टोरी 

कहानी अनुबंधकर्ता
चरित्र : सिनु और इशु
लेखक : पुनीत

हीलो दोस्तों मेरा नाम सिनु है में मुंबई से हूँ ये मेरे सच्चे प्यार की कहानी है जो में newgenerationsknownledges.com पर शेयर कर रहा हूँ। जब मुझे प्यार हुआ था जब हम दोनों 10 साल के थे इसलिए मै ये तो नही बोल सकता की मुझे प्यार की समझ थी या नही।
मै जिस लड़की से प्यार करता है उसका नाम रियल नाम तो मुझे कभी पता ही नही था मै तो उसे प्यार से इशु बोलता था। हम दोनों को बचपन में प्यार हुआ हम दोनों हमेशा एक साथ ही रहते थे। हम दोनों का प्यार बहुत अच्छा चल रहा था। लेकिन कुछ दिनों बाद हमारे प्यार को किसी की नजर लग गई।

TUJE BHULA NHI BAS YAAD NHI KARTA (HEART TOUCH STORY)

दूर होने का समय

Sacche Pyar Ki Kahani, saacha pyar kiya hai
सच्चे प्यार की लव स्टोरी 

इशु के पापा का अमेरिका में ट्रान्सफर हो गया। उस समय मै और इशु............. 11 साल के रहे होंगे जब हम दोनों दूर हुए। जब वो जा रही थी उस वक़्त उसने एक नोट पर अपना मोबाइल नंबर लिखकर दिया था। मैंने वो नंबर अपने फ़ोन में सेव लग लिया था लेकिन थोड़ी देर बात में मार्किट गया तब कुछ लडको ने मुझसे वो फ़ोन और नोट दोनों झिनकर भाग गए। मैंने उन लडको को भोत देखा लेकिन वो लोग कही भी नही मिले । मै दुखी होकर घर पर वापस आ गया।
मै अपनी इशु की याद में हर दिन और............. हर रात दुखी रहता था सोचता रहता था की सायद वो कभी ना कभी वापस आयेगी लेकिन वो वापस नही आई। मुझे उसकी याद करते करते 10 साल हो गए थे उस समय मै 21 साल था लेकिन उस समय भी मै उसके आने का इंतज़ार ही कर रहा था।

AGAR TU HOTA TO NA ROTE HAM

दुबारा खुशियों का समय

pyar kiya hai, love
सच्चे प्यार की लव स्टोरी 

एक दिन मै कुछ काम से जा.......... रहा था तभी रस्ते में मै एक लड़की से मिला उसका नाम प्रिया था। वो लड़की अमेरिका से आई थी किसी को ठुन्ने के लिए। लेकिन वो जिसे ठुण्ड रही थी उसने उसका नाम मुझे नही बताया था और मैंने भी अभी पूछा नही। हम दोनों आपस में भोत अच्छे दोस्त बन गए। मै 10 साल बाद उसके साथ थोडा सा हँसा था। वो लड़की भी बहुत अच्छी थी उसके साथ रहकर मुझे लगता था की मै अपनी इशु के साथ हूँ। प्रिया को भी मेरे साथ रहना अच्छा लगता था। हम दोनों एक साथ भोत समय बताया करते थे। एक दिन हम दोनों उसकी एक दोस्त की सादी में गई वहा पर डांस करते करते मै उसके भोत करीब चला वो कुछ देर मुझे देखती रही फिर वो रूम में चली गई। मै भी पीछे पीछे उसके साथ रूम में चला गया। वो रो रही थी मेने उसका हाथ पकड़ा तो गलती से उसके हाथ का कंगन टूट गया वो कंगन सायद उसकी जान थी उसने उसी वक़्त.......... मेरे गाल पर थप्पड़ मर दिया।
उस वक़्त से ही हम दोनों................. दूर से हो गए थे। मै फिर से अपनी पहले वाली जिंदिगी में आ गया था और अपनी इशु के बारे में सोचा रहता था और दुखी होता था। हम दोनों ना ही कोई फ़ोन पर बात करते ना कभी फिर मिले।
एक दिन मै फेस्टिवल मेले में गया था उस वक़्त पता नही कहा से एक नोट मेरे पास आकर गिर गया। मैंने जब उस नोट देखा तो उसमे में मेरी इशु का नंबर लिखा था मै भोत खुश हुआ मैंने उसी वक़्त इशु को फ़ोन किया।
इशु : हीलो कोन ?
सिनु : रोते हुए..... हीलो इशु।
इशु : रोते हुए....... सिनु तुम
सिनु : हा, इशु मै बोल रहा है
इशु : एक फ़ोन के लिए तुमने मुझे 10 साल इंतजार करा दिया।
सिनु : नही, तुमने जिस नोट पर नंबर लिखा था वो खो गया था
इशु : मै तुम्हारी याद रोज तड़प रही थी।
सिनु : मै भी इशु रोज तुम्हे याद करता था और सोचता था......... की तुम से कभी कभी जरुर मिलूँगा।
इशु : मै भी सिनु ये ही सोचती रहती थी।
सिनु : अभी तुम वो कहा ?
इशु : मै मुंबई में हूँ कोई फेस्टिवल मेला है वहा पर हूँ।
सिनु : मै भी तो वही पर हूँ तुम किस तरह हो।
हमारी बात चल ही रही थी की मेरा फ़ोन बंद हो गया मैंने भोत कोसिस की.......... फ़ोन चालू करने की पर वो चालू नही हुआ। मुझे कुछ भी समझ आ रहा था की मै इशु से कैसे मिलु फिर मुझे याद आया मैंने बचपन में उसके लिए एक गिटार की धुन बनाई थी वो उसे याद होगी। मै फिर सीदा फेस्टिवल के म्यूजिक वाले के पास गया........ वहा पर उसके गिटार से वाही धुन बजाने लगा उसी वक़्त एक लड़की मेरे पास आई वो प्रिया थी उसने मुझे देखते ही सिनु बोला और आकर गले लग गई।
हम दोनों इतने दिन साथ में रहे लेकिन दोनों में से किसी ने एक दुसरे को नही पहचाना था। जब वो मेरे गले लगी तब मुझे पता चला की ये मेरे इशु ही है। इस तरह मेरा प्यार मुझे मिला।
दोस्तों मै आपको ये बोलूँगा की जिस लड़का या लड़की से आप भोत प्यार करते हो और आपसे दूर चली गई है तो भरोसा रखो कभी ना कभी कभी वो आपको जरुर मिलेगी। मेने अपनी इशु के लिए जितना दर्द जेला है वो तो मै ही जनता हूँ लेकिन मेरी इशु मुझे मिल गई।
आपको अगर सिनु और इशु की लव स्टोरी अच्छी लगी तो तो अपने दोस्तों के साथ शेयर करे और अपना ओपिनियन भी कमेंट करे।

पड़ने के लिए धन्येवाद 

No comments:

Post a Comment

Please do not enter ant spam link in the comment box

'; (function() { var dsq = document.createElement('script'); dsq.type = 'text/javascript'; dsq.async = true; dsq.src = '//' + disqus_shortname + '.disqus.com/embed.js'; (document.getElementsByTagName('head')[0] || document.getElementsByTagName('body')[0]).appendChild(dsq); })();